State Wise List of National Parks of India pdf

State Wise List of National Parks of India pdf

State Wise List of National Parks of India pdf | State Wise List National Parks of India pdf | State Wise List of National Park of India pdf | State Wise List of National Parks of India | State Wise List of National Parks of  | State Wise List National Parks India pdf |

List of National parks of India. State wise list of Indian national parks. How many national parks in India. Total number of national parks in India is 104. Natural and reliable habitats provided by these areas to wildlife.National park is an area which is strictly reserved for the betterment of the wildlife & biodiversity, and where activities like developmental, forestry, poaching, hunting and grazing on cultivation are not permitted.

State Wise List of National Parks of India pdf

कैला देवी वन्यजीव अभयारण्य करौली

No.-1. कैला देवी वन्यजीव अभयारण्य करौली में स्थित है, जो राजस्थान-मध्य प्रदेश सीमा से लगा हुआ है। इस अभ्यारण्य में विभिन्न प्रकार के वन्य जीवों को आसानी से देखा जा सकता है।

No.-2. ये वन्य जीव अभ्यारण 676.40 वर्ग कि.मी. के एक क्षेत्र में फैला हुआ है।

No.-3. अभयारण्य के पश्चिमी किनारे पर बनास नदी बहती है, जबकि दक्षिण-पूर्व दिशा में चम्बल नदी का प्रवाह है।

No.-4. ‘कैला देवी वन्यजीव अभयारण्य’, जो ‘कैला देवी मंदिर’ के नाम पर है, दर्शकों को प्रकृति के लिए एक सुंदर परिदृश्य प्रस्तुत करता है।

No.-5. इस अभयारण्य में चिंकारा, जंगली सुअरों और सियार के अलावा बाघ, तेंदुओं, स्लॉथ भालू, हाइना, भेड़ियों और साम्भर को आसानी से विचरण करते हुए देखा जा सकता है।[

संजय गाँधी राष्ट्रीय उद्यान, महाराष्ट्र

No.-1. महाराष्ट्र के शहर मुंबई में कई पर्यटन स्थल है जिनमें से एक संजय गांधी नेशनल पार्क है।

No.-2. संजय गाँधी राष्ट्रीय उद्यान को बोरीवली नेशनल पार्क और संजय गांधी नेशनल पार्क के नाम से जाना जाता था जो मुम्‍बई में बोरीवली उप नगर के आस पास स्थित है।

No.-3. संजय गाँधी राष्ट्रीय उद्यान 1974 में अधिसूचित किया गया।

No.-4. संजय गाँधी राष्ट्रीय उद्यान सामान्‍य दर्शनीय स्‍थलों के कारण बड़े शहर का एक आकर्षण बन गया।

No.-5. संजय गाँधी राष्ट्रीय उद्यान आने वालों को कई प्रकार के जीव जंतु दिखाई दे सकते हैं जिसमें चित्तीदार हिरण, ब्‍लैक नेप्‍ड हेयर, बार्किंग डीयर, साही, पाम सिवेट, माउस डीयर, रिसस मेकाक, बोनेट मेकाक, हनुमान लंगूर, पढ़ने वाली भारतीय लोमड़ी और सांभर शामिल है।

No.-6 संजय गाँधी राष्ट्रीय उद्यान लगभग 38 सरीसृप प्रजातियाँ पाई जाती हैं।

No.-7. पर्यटकों को तुलसी झील में घडियाल और पाइथन देखने को मिल सकते हैं।

No.-8. संजय गाँधी राष्ट्रीय उद्यान कोबरा, रसेल वाइपर, बैम्‍बू पिट वाइपर और सिलोनी कैट साँप भी देखे जा सकते हैं।

State Wise List of National Parks of India 

सरिस्का राष्ट्रीय उद्यान

No.-1. राजस्थान के अलवर ज़िले में अरावली की पहाड़ियों पर 800 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला सरिस्का मुख्य रूप से वन्य जीव अभयारण्य और टाइगर रिजर्व के लिए प्रसिद्ध है। इसके अलावा इस स्थान का ऐतिहासिक महत्त्व भी है।

No.-2. यह दिल्ली से लगभग 200 किमी और जयपुर से 107 किमी की दूरी पर स्थित है।

No.-3. सरिस्का में बने मंदिरों के अवशेषों में गौरवशाली अतीत की झलक दिखती है।

No.-4. ईसापूर्व 5वीं शताब्दी के धर्मग्रन्थों में इस स्थान का उल्लेख मिलता है।

No.-5. कहा जाता है कि पांडवों ने अपने वनवास के दौरान सरिस्का में आश्रय लिया था।

No.-6. मध्यकाल में औरंगज़ेब ने अपने भाई को कैद करने के लिए कंकावड़ी क़िले का प्रयोग किया था।

No.-7. 8वीं से 12वीं शताब्दी के दौरान यहाँ के अमीरों ने अनेक मंदिरों का निर्माण करवाया।

No.-8. 20वीं शताब्दी में महाराजा जयसिंह ने सरिस्का को संरक्षित क्षेत्र बनाने के लिए अभियान चलाया।

No.-9. आज़ादी के बाद 1958 में भारत सरकार ने इसे वन्यजीव अभयारण्य घोषित किया और 1979 में इसे प्रोजेक्ट टाईगर के अधीन लाया गया।

No.-10. पहाड़ों और जंगलों से घिरा यह अभयारण स्तनधारी जानवरों, पक्षियों, सापों, बाघों और तेंदुओं के लिए ख़ास पहचान रखता है।

No.-11. सरिस्का वन्यजीव अभयारण में पूरे साल सैलानियों की भीड़ लगी रहती है।

No.-12. यहाँ पर जाने का सबसे अधिक अच्छा समय जून से अक्तूबर तक का है।

No.-13. इस दौरान यहाँ पर जंगल के राजा को उसके परिवार के साथ घूमते हुए बड़ी आसानी से देखा जा सकता है।

जिम कोर्बेट राष्ट्रीय पार्क

No.-1. जिम कोर्बेट राष्ट्रीय पार्क दिल्ली से 240 कि.मी. उत्तर-पूर्व में स्थित एक प्रमुख दर्शनीय स्थल है। यह राष्ट्रीय अभयारण्य उत्तरांचल राज्य के नैनीताल ज़िले में रामनगर शहर के निकट एक विशाल क्षेत्र को घेर कर बनाया गया है।

No.-2. यह गढ़वाल और कुमाऊँ के बीच रामगंगा नदी के किनारे लगभग 1316 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला है।

No.-3. इस पार्क का मुख्य कार्यालय रामनगर में है और यहाँ से परमिट लेकर पर्यटक इस उद्यान में प्रवेश करते हैं।

No.-4. जब पर्यटक पूर्वी द्वार से उद्यान में प्रवेश करते हैं तो छोटे-छोटे नदी-नाले, शाल के छायादार वृक्ष और फूल-पौधों की एक अनजानी सी सुगन्ध उनका मन मोह लेती है।

No.-5. पर्यटक इस प्राकृतिक सुन्दरता में सम्मोहित सा महसूस करता है।

State Wise List  National Parks India pdf

No.-6. तालछापर कृष्ण मृग अभयारण्य राजस्थान

No.-7. तालछापर कृष्ण मृग अभयारण्य राजस्थान राज्य के उत्तरी चुरू ज़िले में स्थित है।

No.-8. यह अभयारण्य चुरू ज़िले के सुजानगढ़ कस्बे से बारह किलोमीटर की दूरी पर बीकानेर-जयपुर राजमार्ग पर स्थित है।

No.-9. अभयारण्य 820 हैक्टेयर क्षेत्र में फैला हुआ है।

No.-10. इस अभयारण्य में सिर्फ़ काले हिरण ही मिलते हैं, जिनको पाँच सौ तक के झुण्ड में देखा जा सकता है।

पेरियार राष्ट्रीय उद्यान दक्षिण, केरल

No.-1. पेरियार राष्ट्रीय उद्यान दक्षिण भारत के केरल राज्य में स्थित है। यह राष्ट्रीय उद्यान एक बाघ संराक्षित क्षेत्र है।

No.-2. यह उद्यान सन 1040 से पेरियार नदी के परिक्षेत्र में स्थित है। पेरियार उद्यान को वर्ष 1998 से ‘हाथी संरक्षण परियोजना’ के अंतर्गत भी लाया गया है।

No.-3. यहाँ नदी के गहरे जल में हाथी तैरने का अभ्यास भी करते हैं। नील गाय, साम्भर, भालू, चीता तथा तेन्दुआ आदि जंगली जानवर भी यहाँ पाए जाते हैं।

No.-4. ‘पेरियार राष्ट्रीय उद्यान’ दक्षिण भारत में वन्य जीवन की विविधता का बड़ा गढ़ है।

No.-5. इसकी स्थापना सन 1950 में की गई थी, जबकि ‘टाइगर रिजर्व’ वर्ष 1978 से शुरू किया गया था।

No.-6. “प्रभु की धरती” कहे जाने वाले केरल के पश्चिमी तटों के मैदानी इलाकों में ‘पेरियार राष्ट्रीय उद्यान’ और ‘टाइगर रिजर्व’ स्थित है।

No.-7. पेरियार उद्यान के बीचों-बीच मन को आकर्षित करने वाली और एक विलक्षण नयनाभिराम दृश्य उत्पन्न करने वाली झील भी है, जो सन 1895 में पेरियार नदी पर बाँध बनाकर निकाली गई थी।

No.-8. वैसे तो यह टाइगर रिजर्व है, लेकिन पर्यटक यहाँ झील में हाथियों की जलक्रीड़ा देखने भी आते हैं।

State Wise List of National Park India pdf

शांता घाटी राष्ट्रीय उद्यान भारत के केरल

No.-1. शांता घाटी राष्ट्रीय उद्यान भारत के केरल राज्य में स्थित है।

No.-2. यह देश का एक महत्त्वपूर्ण राष्ट्रीय उद्यान है।

No.-3. यह उद्यान वन्यजीवों की सम्पन्नता में काफ़ी धनी है।

No.-4. इस राष्ट्रीय उद्यान में हाथी, जंगली सुअर, लघुपुच्छ वानर, साम्भर आदि वन्यजीव पाए जाते हैं।

No.-5. यह उद्यान पर्यावरण तथा शोध का प्रमुख विषय रहा है।

फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान, उत्तराखण्ड

No.-1. फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान भारत के उत्तराखण्ड राज्य में स्थित प्रमुख राष्ट्रीय उद्यान है।

No.-2. इस उद्यान को आमतौर पर सिर्फ़ ‘फूलों की घाटी’ के नाम से सम्बोधित किया जाता है।

No.-3. फूलों की घाटी उद्यान 87.50 वर्ग किमी. क्षेत्र में फैला हुआ है।

No.-4. फूलों की घाटी को सन् 1982 ई. में राष्ट्रीय उद्यान घोषित कर दिया गया था।

No.-5. नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान और ‘फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान’ सम्मिलित रूप से विश्व धरोहर स्थल घोषित किये गए हैं।

No.-6. फूलों की घाटी उद्यान चमोली ज़िले के अंतिम बस अड्डे से 275 किमी. की दूरी पर है।

No.-7. यहाँ से प्रवेश स्थल की दूरी 13 किमी. है।

No.-8. उद्यान में आने वाले पर्यटक 3 किमी. लम्बी तथा आधा किमी. चौड़ी फूलों की घाटी में घूम सकते हैं।

State Wise List of Nation Parks of India pdf

नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान, उत्तराखण्ड

No.-1. नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान उत्तराखण्ड के नंदा देवी के शिखर पर स्थित राष्ट्रीय उद्यान और अभयारण्य है।

No.-2. यह पार्क 1982 में राष्ट्रीय उद्यान बना।

No.-3. इस क्षेत्र के अंतर्गत फूलों की घाटी है, जहाँ किस्म-किस्म के फूलों की छटा बिखरी हुई है।

No.-4. नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान और ‘फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान’ सम्मिलित रूप से विश्व धरोहर स्थल घोषित किये गए हैं।

रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान, राजस्थान

No.-1. रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान राजस्थान के सवाईमाधोपुर ज़िले में स्थित है।

No.-2. यह उत्तर भारत के बड़े राष्ट्रीय उद्यानों में गिना जाता है। 392 वर्ग किलोमीटर में फैले इस उद्यान में अधिक संख्या में बरगद के पेड़ दिखाई देते हैं।

No.-3. यह उद्यान बाघ संरक्षित क्षेत्र है। यह राष्ट्रीय अभयारण्य अपनी खूबसूरती, विशाल परिक्षेत्र और बाघों की मौजूदगी के कारण विश्व प्रसिद्ध है।

No.-4. अभयारण्य के साथ-साथ यहाँ का ऐतिहासिक दुर्ग भी पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है।

No.-5. लंबे समय से यह राष्ट्रीय उद्यान और इसके नजदीक स्थित रणथंभौर दुर्ग पर्यटकों को विशेष रूप से प्रभावित करता है।

भितरकनिका अभयारण्य, उड़ीसा    

No.-1. भितरकनिका अभयारण्य भारत के उड़ीसा राज्य में स्थित राष्ट्रीय उद्यान है।

No.-2. भितरकनिका अभयारण्य राज्य के तटीय भागों में फैला हुआ है।

No.-3. देश के प्रमुख अभयारण्यों में से यह एक है।

No.-4. भितरकनिका अभयारण्य में बड़ी मात्रा में ‘ओलाइव रिडले कछुए’ अण्डे देने के लिए आते हैं।

No.-5. भितरकनिका अभयारण्य में खारे पानी के मगरमच्छों की अधिकता है।

No.-. यहाँ सफ़ेद मगरमच्छ, भारतीय अजगर तथा कालेपक्षी भी पाये जाते हैं।

 

Scroll to Top