Kushan vansh ke sansthapak kon the

Kushan vansh ke sansthapak kon the

Kushan vansh ke sansthapak kon the | Kush vansh ke sansthapak kon the | Kushan vansh ke sansthpak kon the | Kushan vansh ke sansthapak kon | Kushan vansh k sansthapak kon the |

कुषाण प्राचीन भारत के राजवंशों में से एक था। कुछ इतिहासकार इस वंश को चीन से आए युएझ़ी लोगों के मूल का मानते हैं। सम्राट कनिष्क भारत में आकर यहां की बौद्ध संस्कृति का हिस्सा बन गए भारत में सर्वप्रथम भगवान बुद्ध की मूर्तियों का निर्माण कुषाण काल में ही हुआ इसमें गंधार व मथुरा शिल्पकला का उदय कुषाण काल में ही हुआ ।

Kushan vansh ke sansthapak kon the

कुषाण वंश के संस्थापक कौन थे ?

कुषाण वंश के संस्थापक कुजुल कडफिसेस थे |

कुजुल कडफिसेस (15-65 ई.)

No.-1. कुषाण वंश के संस्थापक कुजुल कडफिसेस था ।

No.-2. इसने रोमन सिक्कों की नकल करके तांबे के सिक्के ढलवाए तथा महाराजाधिराज की उपाधि धारण की ।

No.-3. इसने दक्षिणी अफगानिस्तान, काबुल, कंधार और पार्थिया के एक भाग को अपने राज्य में मिला लिया ।

No.-4. इसने वैदिक धर्म को अंगीकार किया ।

Scroll to Top