Inventions of science happened by mistake

Inventions of science happened by mistake

Inventions of science happened by mistake | Inventions  science happened by mistake | Invention of science happened by mistake | Inventions of sci  happened by mistake | Inventions of science happen by mistake | Inventions of science happened mistake |

innovation in a variety of ways, including cutting-edge academic programs that equip you with relevant knowledge and skills. Plus, the on-campus entrepreneurial hub, IncubatorCTX, provides resources to help you put your original ideas and solutions into action |Innovation often comes unexpectedly. Here are nine successful inventions that came about accidentally|

Inventions of science happened by mistake

माइक्रोवेव (Microwave ovens)

No.-1. 1945 में पर्सी स्पेनसर रेथियॉन कॉरपोरेशन में रिसर्च कर रहे थे. रिसर्च करते समय वे मैग्नेट्रॉन नामक एक नई वैक्यूम ट्यूब के साथ प्रयोग कर रहे थे. तभी अचानक उनकी जेब में रखी कैंडी बार पिघलने लगी |

No.-2.  यह देखकर उन्हें आश्चर्य हुआ. इसके बाद उन्होंने इसकी सच्चाई जानने के लिए पॉपकॉर्न लिया और जब पॉपकॉर्न भी फूटने लगा तो उन्होंने उस पूरी प्रक्रिया को नोटिस किया और 1947 में पहला माइक्रोवेव ओवन बनाया |

No.-3. इसे ‘राडारेंज’ कहा जाता था यह 1.8 मीटर लंबा था, इसका वजन 340 किलोग्राम था |

कोका कोला (Coca-Cola)

No.-1. गर्मीयों की शुरूआत होते ही हमें कोल्ड ड्रिंक की याद आती है और कोल्‍डड्रिंक में सबसे ज्‍यादा पॉप्‍यूलर है कोका कोला मगर क्या आपको पता है कोका कोला का आविष्कार गलती से हुआ है जी हां जॉन पेम्बर्टन स्टाइथ नाम के फार्मासिस्ट ने इसे गलती से बना दिया था |

No.-2.. दरअसल, वे सिर दर्द का इलाज करने के लिए कोला नट और कोला की पत्तियों को मिलाकर प्रयोग कर रहे थे. उनके लैब असिस्टेंट ने संयोगवश दोनों को कार्बोनेटेड वॉटर से मिला दिया, तो एक पेय पदार्थ बन गया और कोका कोला नाम से मार्केट में आया |

No.-3.  शुरुआती दिनों में यह सिर्फ दवा की दुकानों में ही मिलता था सेबसे पहली वार 1894 में मिसीसिपी के विक्सबर्ग में पहली बार सॉफ्ट ड्रिंक कोका कोला की बोटल बिक्री के लिए उतारी गई थी

No.-4. सोडा फाउंटेन ऑपरेटर जोसेफ बिडेनहार्ड ने इसकी बिक्री शुरू की थी इसे पहली बार दिमाग को शांत करने वाले टॉनिक के तौर पर पेश किया गया था

Inventions of science happen by mistake

पोटैटो चिप्स (Potato Chips)

No.-1. आलू के चिप्स अंग्रेजी भाषी देशों में तथा कई अन्य पश्चिमी देशों के स्नैक खाद्य बाजार का एक प्रमुख भाग है ऐसा कहा जाता है मूल आलू के चिप की उत्पत्ति सैरेटोगा स्प्रिंग्स न्यूयॉर्क में 24 अगस्त 1853 को हुई थी

No.-2. दरअसल एक ग्राहक द्वारा तले हुए आलुओं को इस शिकायत के साथ वापस भेजे दिया गया कि आलू बहुत मोटे तथा लिजलिजे हैं

No.-3. उस रिसौर्ट होटल के शेफ जॉर्ज क्रम उत्तेजित हो गए तथा उन्होंने आलुओं की बहुत पतली फांकें काटने का निर्णय लिया

No.-4. क्रम की उम्मीद के विपरीत उस ग्राहक को ये नए चिप्स बहुत पसंद आये तथा जल्दी ही उस होटल के मेनू में यह एक नियमित प्रविष्टि बन गयी जिसका नाम “सैरेटोगा चिप्स” था

पेसमेकर (Pacemaker)

No.-1. दिल की धड़कन को नियंत्रित रखने के लिए पेसमेकर एक चिकित्सा उपकरण है पेसमेकर का काम किसी भी दिल को सामान्य गति से धडकाना या किसी की Heart Rate को सामान्य रखना है

No.-2.  पेसमेकर का आविष्कार 1 कनेडियन वैज्ञानिक जॉन होप्‍स ने 1950 में किया था एक बार इलेक्ट्रिक इंजीनियर जॉन होप्स रेडियो फ्रिक्वेंसी के जरिए बॉडी टेम्परेचर को रिस्टोर करने के प्रोजेक्ट पर काम कर रहे थे

No.-3. इस दौरान उन्हें अहसास हुआ कि अगर दिल ठंड के कारण धड़कना बंद कर दे तो कृत्रिम उत्तेजना पैदा करने से यह फिर से धड़कना शुरू कर देता है सबसे पहला पेसमेकर का प्रयोग टोरंटो विश्वविद्यालय में एक कुते के ऊपर किया गया और 1958 में पहली बार मानव शारीर में ये पेसमेकर लगाया गया था

एक्स-रे (X Ray)

No.-1. एक्स किरणों का प्रयोग आज टूटी हुई हड्डियों की तसवीर लेने में, रेडिएशन थेरेपी में तथा हवाई अड्डों की सुरक्षा आदि में किया जा रहा हैं

No.-2. इन किरणों का आविष्कार जर्मनी के भौतिकशास्त्री विल्हेल्म कोनराड रॉन्टजन (Wilhelm Conrad Rontgen) ने सन् 1895 में किया था दरअसल विल्हेम रोन्टजेन कैथोडिक रेज ट्यूब का आविष्कार करने में लगे थे

No.-3. लेकिन एक दिन उन्होंने देखा की लाइट जब चमक रही थी तो अपारदर्शी कवर होने के बावजूद भी इसके नीचे रखा पेपर साफ़ दिखाई दे रहा था। ये देखकर विल्हेम चौंक गए और वहां से उन्हें एक्सरे के आविष्कार का आइडिया मिला

 

Scroll to Top