Hindi patr sahity हिंदी की प्रमुख पत्र पत्रिकाएं

 Hindi patr sahity हिंदी की प्रमुख पत्र पत्रिकाएं

Hindi patr sahity हिंदी की प्रमुख पत्र पत्रिकाएं | Hindi par sahity हिंदी की प्रमुख पत्र पत्रिकाएं | Hindi patr sahity हिंदी की प्रमुख | Hindi patr sahity | Hindi patr sahity पत्र पत्रिकाएं | Hindi patr sahity हिंदी की प्रमुख पत्र | Hindi patr sahity हिंदी पत्र पत्रिकाएं |

  ‘सुधाकर’ और ‘बनारस अखबार’ साप्‍ताहिक पत्र थे जो काशी से प्रकाशित होते थे। ‘प्रजाहितैषी’ एवं बुद्धि प्रकाश का प्रकाशन आगरा से होता था। ‘तत्‍वबोधिनी’ पत्रिका साप्‍ताहिक थी और इसका प्रकाशन बरेली से होता था। ‘मालवा’ साप्‍ताहिक मालवा से एवं ‘वृतान्‍त’ जम्‍मू से तथा ‘ज्ञान प्रदायिनी पत्रिका’ लाहौर से प्रकाशित होते थे।

 Hindi patr sahity हिंदी की प्रमुख पत्र पत्रिकाएं 

 

हिंदी साहित्यकारों के पत्र

लेखकपत्र
धीरेन्द्र वर्मायूरोप के पत्र
धीरेन्द्र वर्मा व लक्ष्मीसागर वार्ष्णेयप्राचीन हिंदी पत्र साहित्य
किशोरी दास वाजपेयीसाहित्यकारों के पत्र
अमृतरायचिट्टी पत्री
पाण्डेय बेचन शर्मा ‘उग्र’फ़ाइल और प्रोफाइल
वृंदावनलाल वर्माबनारसीदास चतुर्वेदी के पत्र
जानकी बल्लभ शास्त्रीनिराला के पत्र
हरिवंशराय ‘बच्चन’पंत के दो सौ पत्र बच्चन के नाम,
कवियों में सौम्य संत
मधुरेशयशपाल के पत्र
यशपालप्रियपाश
नेमिचंद्र जैनपाया पत्र तुम्हारा
शिव प्रसाद सिंहशांति निकेतन से शिवालिक तक
नरेंद्र कोहलीनागार्जुन के पत्र,
प्रतिनाद
रामविलास शर्मामित्र संवाद,
तीन महाराथिओं के पत्र,
आपस की बातें,
कवियों के पत्र
जयदेव तनेजाराकेश और परिवेश : पत्रों में
मोहन राकेश व उपेन्द्रनाथ अश्कपुनश्च
भारत यायावरचिठिया हो तो हर कोई बांचे
पुष्पा भारतीअक्षर- अक्षर यज्ञ,
धर्मवीर भारती के पत्र,
एक साहित्यिक के प्रेम पत्र,
ढाई आखर प्रेम के
कमलेश अवस्थीहमको लिख्यों हैं कहाँ
विवेकी रायपत्रों की छाँव में
राजेन्द्र यादवअब वे वहां नहीं रहते हैं
नामवर सिंहकशी के नाम
रमेश गजानन मुक्तिबोध व अशोक वाजपेयीमेरे युवजन: मेरे परिजन

 

Scroll to Top