Haryak vansh ka antim raja kon tha

Haryak vansh ka antim raja kon tha

Haryak vansh ka antim raja kon tha | Haryak vansh k antim raja kon tha | Haryak vansh ka atim raja kon tha | Haryak vansh ka antim raja kon | Haryak vansh ka antim raja tha | Haryak vansh ka antim raja | Haryak vnsh k antim raja kon tha |

हर्यक वंश [1] की स्थापना ५४४ ई. पू. में बिम्बिसार के द्वारा की गई। बिम्बिसार ने गिरिव्रज (राजगृह) को अपनी राजधानी बनायी। इसने वैवाहिक सम्बन्धों (कौशल नरेश प्रसेनजित की बहन महाकोशला, वैशाली के चेटक की पुत्री चेल्लना एवं पंजाब की राजकुमारी क्षेमा) से शादी की नीति अपनाकर अपने साम्राज्य का विस्तार किया। जैन साहित्य में बिम्बिसार का नाम ‘श्रेणिक’ मिलता है।

Haryak vansh ka antim raja kon tha

Que.-1. हर्यक वंश का अंतिम राजा कौन था ?

Ans. हर्यक वंश का अंतिम राजा उदायिन का पुत्र नागदशक था । नागदशक को उसके अमात्य शिशुनाग ने 412 ईसा पूर्व में अपदस्थ करके मगध पर शिशुनाग वंश की स्थापना की ।

Scroll to Top