chandragupta 2 ke navratna kon the

chandragupta 2 ke navratna kon the

chandragupta 2 ke navratna kon the

chandragupta 2 ke navratna kon the | chandragupta  ke navratna kon the | chandragupta 2 k navratna kon the | chandragupta 2 ke navratn kon the | chandrgupta 2 ke navratna kon the | chndragupta 2 ke navratna kon the |

चन्द्रगुप्त विक्रमादित्य (राज्यकाल ३७५ ई से ४१४ ई) भारत के गुप्त वंश के महानतम एवं सर्वाधिक शक्तिशाली सम्राट थे। उनका राज्यकाल में गुप्त राजवंश अपने चरम उत्कर्ष पर था। यह समय भारत का स्वर्णिम युग भी कहा जाता है। चन्द्रगुप्त द्वितीय , [समुद्रगुप्त]] महान के पुत्र थे। उन्होंने आक्रामक विस्तार की नीति एवं लाभदयक पारिग्रहण नीति का अनुसरण करके सफलता प्राप्त की।

chandragupta 2 ke navratna kon the

चंद्रगुप्त द्वितीय के नवरत्न –

(१) कालिदास

(२) अमर सिंह

(३) शंकु

(४) धनवंतरी

(५) क्षपणक

(६) वेताल भट्ट

(७) वररूचि

(८) घटकर्पर

(९) वराहमिहिर

Scroll to Top